01 मार्च 2016

‘आत्महत्या वाला जंगल’, यहां मरने आते हैं लोग...



टोक्यो। सोचिए, कोई जगह ऐसी हो सकती है, जहां लोग सिर्फ मरने आते हों। वो भी तब, जब वो जगह खूब बदनाम हो। बदनामी भी ऐसी की डर के मारे हालत खराब हो जाए। अब भूत प्रेतों के जंगल में कौन अपनी जान देना चाहता है, पर लगता है जापानियों को ये जंगल बेहद पसंद आता है। ये जंगल है फुजी पहाड़ के पास, जहां हमेशा घना अंधेरा छाया रहता है।
बिल्कुल किसी भूतिया हॉलीवुड फिल्म के सेट की तरह। पर आओकिगाहा नाम का ये जंगल बेहद डरावना है। यहां सरकार ने किसी के भी आने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। किसी तरह की फोटोग्राफी की भी मनाही है। इसके बावजूद हर साल यहां दर्जनों लोग अपनी जान देने किसी न किसी तरह से पहुंच ही जाते हैं।
इस जंगल में नताली डोर्मर नाम की प्रशिक्षित महिला ने एक खोई लड़की को ढूंढने के लिए कदम रखा था। उन्होंने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि ये बेहद घटिया जगह है। मैं जंगल में सिर्फ 5 फिट घुस पाई, जबकि मेरे ड्राइवर ने कदम तक आगे नहीं बढ़ाया। मुझे पेड़ों की तस्वीरें लेनी थी। पर तभी लगा कि जमीन ऊपर उठ रही है। नताली ने कहा कि यहां के बारे में जापानियों का कहना है कि ये बेहद भूतिया जगहें हैं। 16 वर्ग मील तक फैले इस जंगल को दूसरी ही दुनिया कहा जाता है।
यहां साल 2010 में 400 से अधिक लोगों ने जान दी, जो किसी भी साल के मुकाबले सबसे ज्यादा है। हालांकि प्रशासन की कड़ाई के चलते
धीरे धीरे ये आंकड़ा कम होता जा रहा है। आपको बता दे कि जापान में आत्महत्या की प्रवृत्ति सर्वाधिक है। दुनिया के किसी भी देश के मुकाबले। जापान में आत्महत्या के मामले पूरी दुनिया के मुकाबले 60 फीसदी अधिक हैं। ये ब्रिटेन के मुकाबले 3 गुना अधिक है। साल 2014 में कुल 25 हजार जापानियों ने आत्महत्याएं की, यानि प्रतिदिन 70 से भी अधिक आत्महत्याएं।


साभार